पाकिस्तान के बल्लेबाज मिस्बाह उल हक ने इंग्लेंड के खिलाफ खेले जा रहे लॉर्ड्स टेस्ट में 114 रन की पारी खेली. 

मिस्बाह के शतक लगाते ही उन्होंने इतिहास रच दिया. मिस्बाह ने कप्तान के तौर पर सबसे ज्यादा उम्र में शतक बनाने वाले बल्लेबाज बन गए. मिस्बाह ने यह कारनामा 42 साल और 47 दिन की उम्र में किया.

इससे पहले यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के बॉब सिंपसन के नाम था. बॉब ने यह कारनामा 1977 में 41 साल और 359 दिन की उम्र में किया था.

मिस्बाह ने शतक बनाने के बाद मैदान में ही 10 पुश अप्स किये. मिस्बाह ने कारण बताते हुये कहा की मेने आर्मी केम्प के ट्रेनिंग के दोरान वादा किया था इसके लिए मैदान में पुश अप्स किये. मिस्बाह ने ड्रेसिंग रूम की और देखते हुये सलामी भी ठोकी.


इसके साथ ही मिस्बाह 40 साल की उम्र के बाद टेस्ट क्रिकेट में सब से ज्यादा शतक बनाने वाले बल्लेबाज भी बने. मिस्बाह ने अपने करियर में 9 शतक बनाये है जिस में से 5 शतक 40 साल की उम्र के बाद लगाये है. इस उम्र में खिलाडीयों का खेलना भी मुश्किल होता है वहा यह रिकोर्ड तकरीबन अनब्रेकेबल रहेगा.


मिस्बाह वेसे ही आलोचकों की नजर में थे यह शतक उनके लिए इस हिसाब से भी महत्वपूर्ण रहेगा.